Sukania yajana app

सुकन्या समृद्धि योजना

 

आज की तारीख में भी जो लोग बेटियों को बोझ समझते हैं और पैदा होते ही अपनी पढ़ाई को लेकर चिंतित रहते हैं और अपनी शादी के पैसे के बारे में सोचते हैं ऐसे लोगों को अब ज्यादा टेंशन लेने की जरूरत नहीं है . क्योंकि ” बेटी बचाओ बेटी पढाओ ” अभियान के तहत केंद्र सरकार द्वारा बेटियों की शिक्षा और शादी के खर्च के लिए ” सुकन्या समृद्धि योजना ” शुरू की गई है , जिसके माध्यम से आप अपनी बेटी की शिक्षा और उसकी शादी का खर्च आसानी से उठा सकते हैं । सक्षम हो जाएगा

” सुकन्या समृद्धि योजना ” में आप अपनी बेटी के 10 वर्ष की आयु प्राप्त करते ही डाकघर या अधिकृत बैंक में खाता खुलवा सकते हैं । आपकी बेटी के नाम से यह खाता तब काम आएगा जब आपकी बेटी 21 साल की हो जाएगी । आप चाहें तो इसे अपनी बेटी के भविष्य के लिए भी ठीक करवा सकते हैं ।

अगर आपकी दो बेटियां हैं तो आप दोनों के नाम से यह खाता खुलवा सकते हैं । लेकिन यह खाता एक ही परिवार के तीन लोगों के लिए नहीं खोला जा सकता है । हां , अगर आपके जुड़वां बच्चे हैं तो आप 3 खाते खोल सकते हैं । आप चाहें तो बेटी की 18 साल की होने के बाद भी बेटी की पढ़ाई और उसकी शादी के लिए अपनी जमा राशि का 50 फीसदी निकाल सकते हैं . अगर आपकी बेटी की 21 साल से पहले किसी कारण से मृत्यु हो जाती है तो उसका खाता बंद कर दिया जाएगा और खाते में जमा राशि उसके परिवार को ब्याज सहित दे दी जाएगी । ” सुकन्या समृद्धि योजना ” में सरकार द्वारा घोषित ब्याज दर शुरू में 9.2 % थी , जिसे 2017 में संशोधित किया गया है ।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता कैसे खोलें ?

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलते समय आपको न्यूनतम 1000 / – रुपये जमा करने होंगे ।

इस खाते में आपको न्यूनतम 1000 / – प्रति वर्ष से अधिकतम 1.5 लाख प्रति वर्ष जमा करना होगा ।

आपको इस खाते में खाता खोलने की तारीख से 14 साल तक न्यूनतम राशि जमा करनी होगी ।

यदि खाते में न्यूनतम राशि जमा नहीं की गई थी , तो आपके खाते से न्यूनतम राशि सहित 50 / – की कटौती की जाएगी ।

खाता खोलते समय बेटी का जन्म प्रमाण पत्र , पता प्रमाण और पहचान प्रमाण देना अनिवार्य है ।

बेटी के 21 साल पूरे होने के बाद ही अकाउंट मैच्योर होगा ।

बेटी के 10 साल होते ही वह खुद इसका संचालन कर सकेगी और खाते की पूरी राशि भी बेटी के नाम हो जाएगी ।

इस खाते में आयकर की धारा 80 – जी के तहत छूट दी जाएगी , जिसमें ब्याज और मैच्योरिटी राशि के साथ निवेश की गई राशि पर भी कर छूट मिलेगी ।

इस खाते में नकद , चेक या डिमांड ड्राफ्ट ( डीडी ) द्वारा भी पैसा जमा किया जा सकता है । आप पोस्ट मास्टर या बैंक शाखा के नाम से भी चेक और डीडी बना सकते हैं ।

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ –

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोलने पर आपको 2 % की ब्याज दर मिलेगी । उदाहरण के लिए यदि आप खाते में प्रति माह 1000 / जमा करते हैं , तो पूरे 14 वर्षों में आपको कुल 1,68000 / – जमा करने होंगे । ९ .२ % ब्याज दर के साथ , जैसे ही आपकी बेटी २१ साल की होगी , आपको कुल ६,०७,१२८ / – मिलेगा । यानी आपको कुल मिलाकर 4,39,128 का लाभ होगा । सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलने पर आपके पैसे पर कोई टैक्स नहीं लगेगा । इस खाते से प्राप्त राशि आपकी बेटी को शिक्षित करने या उसकी शादी कराने में आपकी मदद करेगी ।

 

आप निम्न में से किसी एक बैंक में सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकते हैं :

भारतीय स्टेट बैंक

आंध्रा बैंक ,

इलाहाबाद बैंक ,

बैंक ऑफ बड़ौदा ,

बैंक ऑफ इंडिया ,

कॉर्पोरेशन बैंक ,

देना बैंक ,

इंडियन बैंक ,

इंडियन ओवरसीज बैंक ,

पंजाब नेशनल बैंक ,

सिंडिकेट बैंक ,

यूको बैंक ,

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स ,

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ,

यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया विजय बंक ,

आईडीबीआई बैंक ,

ऐक्सिस बैंक

आईसीआईसीआई बैंक

Scroll to Top